English | हिन्दी

राजस्थान की
लोक परम्पराओं का संगम

रोशनी का पर्व दीपावली आने को है - और ये समय पूरे देश में उत्सव और त्यौहार के माहौल का शंखनाद कर रहा है।

उत्सव के इस समय में, शेखावाटी राजस्थान का एक छोटा सा कस्बा गवाह बनने वाला है एक ऐसे उत्सव का, जो है... राजस्थान की लोक परम्पराओं का संगम

2-दिन का मोमासर उत्सव, लोक कलाओं के इस अनूठे उत्सव में राजस्थान की विभिन्न जगहों से 200 से ज़्यादा कलाकारों और शिल्पकारों को एक-साथ एक ही मंच पर लेकर आ रहा है।

इस नॉन-प्रॉफ़िट फेस्टिवल का आयोजन मोमासर के स्थानीय निवासियों और जाजम फाउंडेशन द्वारा किया जाता है।

इस उत्सव का 9वां आयोजन 19-20 अक्टूबर, 2019 को हुआ, जिसने देश-विदेश के हज़ारों लोक-कला प्रेमियों को एक बार फिर रोमांचित कर दिया।

उत्सव की झलकियाँ

0

दिन

0

लोक कलाकार

0 हज़ार

दर्शक

मोमासर उत्सव @ इंस्टाग्राम

हमसे जुड़े रहें

मोमासर एक
अद्भुत अनुभव

यह उत्सव राजस्थान की 7 संस्कृतियों के 200 लोक कलाकारों का एक संगम है।

और ज़्यादा जानकारी