English | हिन्दी
स्थान: मोमासर फार्म
प्रातः 05:45 से 06:30 बजे
शास्त्रीय संगीत के साथ योग
  • योग गुरु - श्याम जोशी
  • सितार वादन - पंडित हरिहरशरण भट्ट
स्थान: भोमियाजी का मंदिर
प्रातः 07:30 से प्रातः 08:30 बजे
मोमासर उत्सव उद्घाटन कार्यक्रम
  • भजन गायन - बद्रीजी और शिवजी सुथार
स्थान: मोमासर चौपाल (जयचंद लाल पटावरी जी की हवेली)
प्रातः 11:00 से दोपहर 03:00 बजे
लुप्तप्रायः लोक संगीत परम्पराएं
  • जोगिया सारंगी पर भक्ति संगीत - मांगीलाल जोगी एवं साथी
  • कथोड़ी जनजाति संगीत
    वाद्य - थालीसर, पावरी, तारपी, टापरा और घोरलिया
दोपहर 03:00से सायं 04:00 बजे
म्यूज़िक इन द हवेली चौक
  • वाद्य जुगलबंदी - सुरनईया लंगा
    कलाकार: अली, रमजान और लाल खान(सुरिंदा), लतीफ़(मुरली)
  • जुम्मा जोगी एवं साथियों का गायन
प्रातः 11:00 से सायं 05:00 बजे
गैर-मंचीय प्रस्तुतियां
  • जादूगर - लाल भाई
  • नटकला - महिपाल नट एवं साथी
  • बहुरूपिया कला - संजीव बहुरूपिया एवं साथी
  • ढोल और बैगपाइप वादन - श्रवण गेगावत एवं साथी
  • कठपुतली कला - मनोज भाट
  • लाइव पेन्टिंग - प्रो. सुब्रोतो मंडल एवं साथी
  • अलगोजा वादन - यासिन राणा
प्रातः 11:00 से सायं 05:00 बजे
हस्त कौशल
  • बुनाई कला - रामरखजी
  • चीड़ का काम - राजकी सपेरा
  • फड़ पेन्टिंग - अभिषेक जोशी
  • कावड़ - द्वारका प्रसाद
  • पट्टू बुनाई - भेराराम और मोड़ाराम मेघवाल
  • कशीदाकारी और पेच-वर्क - खेताराम मेघवाल एवं साथी
  • नेचुरल वुड आर्ट - नत्थू लाल जांगिड़
  • काली मिट्टी की कारीगरी - रमेश प्रजापत
  • परम्परागत बांदरवाल - विनोद दर्जी
  • पीढ़ा बुनाई - गोपाल कुम्हार
  • लकड़ी के खिलौने और बर्तन - सीताराम सुथार
  • मिट्टी के खिलौने - राजेन्द्र शर्मा
  • समुदाय क्राफ्ट - हरदोई का हस्त कौशल
  • लोक संगीत वाद्य निर्माण – मोहन लोहार
  • मोलेला मिट्टी कला – किशन कुम्हार
  • लकड़ी कला – अमज़द खान
  • कागज़ कला – गिरधारी और रेखा
स्थान: मोमासर फार्म
रात्रि 09:00 से 10:30 बजे
  • वरिष्ठ मांगणियार कमायचा कलाकारों की संगत में गायन
  • राजस्थानी लोक गीत - श्रीमती परवीन मिर्ज़ा एवं साथी
स्थान: मोमासर फार्म
प्रातः 05:45 से 06:30 बजे
शास्त्रीय संगीत के साथ योग
  • योग गुरु - श्याम जोशी
  • सितार वादन - पंडित हरिहरशरण भट्ट
प्रातः 07:30 से 08:30 बजे
  • भक्ति संगीत - पुनमाराम मेघवाल एवं साथी
स्थान: मोमासर चौपाल (जयचंद लाल पटावरी जी की हवेली)
प्रातः 11:00 से दोपहर 03:00 बजे
लुप्तप्रायः लोक संगीत परम्पराएं
  • जोगिया सारंगी पर भक्ति संगीत - मांगीलाल जोगी एवं साथी
  • कथोड़ी जनजाति संगीत
    वाद्ययंत्र - थालीसर, पावरी, तारपी, टापरा और घोरलिया
दोपहर 03:00 से सायं 04:00 बजे
म्यूज़िक इन द हवेली चौक
  • भृतहरी कथा और शिवजी का ब्यावला - बाबूनाथ जोगी एवं साथी
  • जंतर वाद्य यंत्र पर बगड़ावत देवनारायण महागाथा - अमराराम गुर्जर एवं साथी
प्रातः 11:00 से सायं 05:00 बजे
गैर-मंचीय प्रस्तुतियां
  • जादूगर - लाल भाई
  • नटकला - महिपाल नट एवं साथी
  • बहुरूपिया कला - संजीव बहुरूपिया एवं साथी
  • ढोल और बैगपाइप वादन - श्रवण गेगावत एवं साथी
  • कठपुतली कला - मनोज भाट
  • लाइव पेन्टिंग - प्रो. सुब्रोतो मंडल एवं साथी
प्रातः 11:00 से सायं 05:00 बजे
हस्त कौशल
  • बुनाई कला - रामरखजी
  • चीड़ का काम - राजकी सपेरा
  • फड़ पेन्टिंग - अभिषेक जोशी
  • कावड़ - द्वारका प्रसाद
  • पट्टू बुनाई - भेराराम और मोड़ाराम मेघवाल
  • कशीदाकारी और पेच-वर्क - खेताराम मेघवाल एवं साथी
  • नेचुरल वुड आर्ट - नत्थू लाल जांगिड़
  • काली मिट्टी की कारीगरी - रमेश प्रजापत
  • परम्परागत बांदरवाल - विनोद दर्जी
  • पीढ़ा बुनाई - गोपाल कुम्हार
  • लकड़ी के खिलौने और बर्तन - सीताराम सुथार
  • मिट्टी के खिलौने - राजेन्द्र शर्मा
  • समुदाय क्राफ्ट - हरदोई का हस्त कौशल
  • लोक संगीत वाद्य निर्माण – मोहन लोहार
  • मोलेला मिट्टी कला – किशन कुम्हार
  • लकड़ी कला – अमज़द खान
  • कागज़ कला – गिरधारी और रेखा
स्थान: मोमासर ताल
रात्रि 8.30 से
  • नगाड़ा बैंड वादन - नाथु सोलंकी
  • सुरताल - जयपुर घराना कथक और मांगणियार की जुगलबंदी
  • फायर पेन्टिंग - अजीत कुमार
  • हंगेरियन लोक संगीत (जिप्सी) - म्यूज़सिकास
  • खेजड़ी की बेटी - सच्ची कहानी पर आधारित संगीतमय नाट्य प्रस्तुति

मोमासर उत्सव @ इंस्टाग्राम